difference between republic day and independence day

स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में अंतर (Difference between Independence Day and Republic Day)

Spread the love

अंतरकोश में आपका स्वागत है। आज हम इस पोस्ट  में स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के बीच अंतर के बारे में जानने वाले हैं। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि गणतंत्र दिवस (Republic Day) और स्वंतत्रता दिवस (Independence Day) दोनों ही राष्ट्रीय पर्व हैं। देश में इन दोनों दिनों को काफी धूमधाम से मनाया जाता है। किंतु बहुत से लोग स्वतंत्रता दिवस ( Independence Day) और गणतंत्र दिवस ( Republic Day) को लेकर कंफ्यूज रहते हैं। कुछ लोग तो इन्हें एक ही मानते हैं।  हम आपको बता दें कि ये दोनों दिवस अलग-अलग हैं और इनको मनाने का तरीका भी अलग-अलग होता है। इस आर्टिकल में  हम आपको बताएँगे कि इन दोनों  दिवस में क्या अंतर है? और ये क्यों मनाये जाते हैं?  अंतर को अच्छे से समझने के लिए पोस्ट को अंत तक पढ़ें।

स्वतंत्रता दिवस (independence day) – 

भारत में स्वतंत्रता दिवस  प्रत्येक वर्ष15 अगस्त को मनाया जाता है। इस दिन सन 1947 में देश को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिली थी। 15 अगस्त का दिन देश की आजादी के साथ ही उन स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान का भी प्रतीक है, जिन्होंने अंग्रेजों से आजादी दिलाने के लिए अपनी जान तक न्योछावर कर दी। स्वतंत्रता सेनानियों के विद्रोह और आंदोलन से हारकर अंग्रेजों ने भारत मुक्त कर दिया। 15 अगस्त 1947 की आधी रात भारत को अंग्रेजों से आजादी मिली। तभी से इस दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता। 

15 अगस्त के दिन देश के प्रधानमंत्री लाल किले पर झंडा फहराकर देशवासियों को संबोधित करते हैं। स्वतंत्रता दिवस के दिन स्कूलों, कॉलेजों और ऑफिस आदि में ध्वजारोहण कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। साथ ही तरह-तरह के रंगारंग कार्यक्रमों भी होते हैं, जिनमें बच्चे बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं।

गणतंत्र दिवस (Republic Day) :- 

26 जनवरी, 1950 को भारत में संविधान लागू किया गया था और भारत एक गणतंत्र देश बना था। इसलिये इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। गणतंत्र का अर्थ है कि देश का प्रमुख (राष्ट्रपति) हमेशा प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से एक निश्चित समय के लिए चुना जाएगा। वह वंशानुगत नहीं होगा। अतः गणतंत्र में प्रत्येक नागरिक को समान अधिकार प्राप्त होते हैं। 

26 जनवरी 1950 को  संविधान लागू होते ही भारत एक गणतंत्र बन गया। इसलिये प्रत्येक 26 जनवरी को भारत में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। इस दिन राजपथ पर भव्य गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन होता है। राष्ट्रपति तिरंगा फहराते हैं। राष्ट्रगान और ध्वजारोहण के साथ उन्हें 21 तोपों की सलामी दी जाती है।  इस दिन अशोक चक्र और कीर्ति चक्र जैसे महत्त्वपूर्ण सम्मान दिए जाते हैं। राजपथ पर निकलने वाली झांकियों में भारत की विविधता में एकता की झलक दिखती है। परेड में भारत की तीनों सेना- नौ सेना, थल सेना और वायु सेना की टुकड़ी शामिल होती हैं और सेना की ताकत दिखती है।  

स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में अंतर:

Difference between Independence Day and Republic Day :-

● 15 अगस्त के दिन प्रधानमंत्री ध्वजारोहण करते हैं। जबकि 26 जनवरी को राष्ट्रपति झंडा फहराते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि प्रधानमंत्री देश के राजनीतिक प्रमुख होते हैं, जबकि राष्ट्रपति संवैधानिक प्रमुख होते हैं। 26 जनवरी 1950 को हमारा संविधान लागू हुआ था, इसलिए गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रपति झंडा फहराते हैं।। इससे पहले आजाद भारत का न तो कोई संविधान था और न ही राष्ट्रपति।

● गणतंत्र दिवस स्वतंत्रता दिवस की तुलना में ज्यादा धूमधाम से मनाया जाता है।

● गणतंत्र दिवस में देश अपनी सैन्य ताकत और सांस्कृतिक विलक्षणता  दिखाता है जबकि स्वतंत्रता दिवस में ऐसा कुछ नही होता।

● गणतंत्र दिवस समारोह में किसी राष्ट्र के राष्ट्राध्यक्ष को बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया जाता है। जबकि स्वतंत्रता दिवस पर नहीं।

● गणतंत्र दिवस का मुख्य स्थान दिल्ली में राजपथ है जबकि स्वतंत्रता दिवस का मुख्य स्थान लाल किला है।

संक्षेप में 15 अगस्त, 1947 को देश आजाद हुआ था, इस वजह से इस दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। वहीं 26 जनवरी,1950 को भारत में संविधान लागू किया गया था, इस वजह से इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। 26 जनवरी को राजपथ पर परेड निकलती है तो 15 अगस्त को लालकिले की प्रचीर से प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते हैं और अन्य रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।


आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी कैसी लगी, कमेंट करके अवश्य बताएँ और अपने प्रियजनों को भी शेयर करें।। यदि आपको हमारी पोस्ट  में कोई गलती दिखे या आपके मन में कोई सवाल या सुझाव हो तो वो भी आप हमसे पूछ सकते हैं। हम आपके सवाल का जवाब देने और आपके सुझाव को समझने का पूरा प्रयास करेंगे। धन्यवाद !

इस प्रकार के और अंतर जानने के लिए visit करें www.antarkosh.com 

6 thoughts on “स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस में अंतर (Difference between Independence Day and Republic Day)

  1. скачать приложение pokerdom
    https://lada-kalina.ru
    Покердом – это уникальная платформа для любителей азарта и адреналина. На официальном сайте Pokerdom вы можете скачать и установить онлайн-клиент для ПК или мобильных устройств и получить доступ к разнообразным лицензионным играм на реальные деньги. Pokerdom – это не только покер-рум, но и онлайн-казино с множеством слотов, рулетки, блэкджека, баккары и других азартных развлечений. Вы можете играть как на виртуальные фишки, так и на рубли или другие валюты. Pokerdom – это также букмекерская контора, где вы можете делать ставки на спорт в режиме прематч или лайв. Вы можете выбирать из множества видов спорта и событий, а также получать высокие коэффициенты и быстрые выплаты. Pokerdom – это покер-рум для тех, кто ценит качество и удобство. Вы можете общаться с другими игроками в чате, получать поддержку от администрации сайта, а также участвовать в различных акциях и бонусах. Вы можете получать фрироллы, кэшбэк, бесплатные спины и многое другое. Вы можете повышать свой статус в лояльности клубе и получать еще больше привилегий и выгод. Pokerdom – это покер-рум для тех, кто любит азарт и хочет испытать свои навыки в соревновании с реальными соперниками. Скачайте клиент на официальном сайте Pokerdom и присоединяйтесь к миллионам игроков по всему миру!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *