british vs american english

Difference between American English and  British English 

Spread the love

नमस्कार… अंतरकोश में आपका स्वागत है। आज हम इस पोस्ट में अमेरिकन इंग्लिश और ब्रिटिश इंग्लिश के बारे बात करेंगे। हम जानेंगे कि अमेरिकन इंग्लिश और ब्रिटिश इंग्लिश क्या है? और इन दोनों में क्या अंतर है? जैसा कि आप सभी जानते हैं कि इंग्लिश एक अंतर्राष्ट्रीय भाषा है। यह एक ऐसी भाषा है जिसे विश्व के अधिकतर भागों में बोला, लिखा और पढ़ा जाता है। कई देशों की यह आधिकारिक भाषा (official language) है।

माना जाता है कि इंग्लिश भाषा की उत्त्पत्ति इंग्लैंड से हुई है। समय के साथ-साथ इसके स्वरूप में परिवर्तन होते गए। आज अलग अलग देशों में इसके स्वरुप में कई परिवर्तन देखने को मिलते हैं। जैसे- अमेरिकन इंग्लिश, कनाडियन इंग्लिश, ऑस्ट्रेलियन इंग्लिश, ब्रिटिश इंग्लिश आदि,जो एक्सेंट, शब्द, ग्रामर आदि में एक दूसरे से कुछ भिन्न हैं। हालांकि “अमेरिकन इंग्लिश” और “ब्रिटिश इंग्लिश” शब्द बहुत अस्पष्ट हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका में दर्जनों अलग-अलग अमेरिकी लहजे (accent) बोले जाते हैं और संभवतः यूनाइटेड किंगडम में ब्रिटिश अंग्रेजी के और भी अधिक संस्करण बोले जाते हैं। ब्रिटिश और अमेरिकी अंग्रेजी के बीच सबसे महत्वपूर्ण अंतर उनके उच्चारण, उनकी शब्दावली और उनकी वर्तनी में है। व्याकरण संबंधी मतभेद भी हैं, लेकिन ये कम महत्वपूर्ण हैं और इनका वर्णन करना कठिन है। यही कारण है कि अंग्रेजी बोलते समय हमें पता नहीं चलता कि हम अमेरिकन इंग्लिश या ब्रिटिश इंग्लिश के शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं। आज हम इसी अंतर को बताने का प्रयास करेंगे। अच्छे से समझने के लिए पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

American English

अमेरिकन इंग्लिश जिसे यूएस इंग्लिश, AmE, AE या AmEng के नाम से भी जाना जाता है, संयुक्त राज्य अमेरिका में बोले जाने वाली मुख्य भाषा है। अमेरिकन इंग्लिश, जिसे यूएस इंग्लिश भी कहा जाता है, संयुक्त राज्य अमेरिका की मूल अंग्रेजी भाषा की किस्मों का समूह है। अंग्रेजी संयुक्त राज्य अमेरिका में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है और अधिकांश परिस्थितियों में सरकार, शिक्षा और वाणिज्य में उपयोग की जाने वाली भाषा है। 20वीं सदी के उत्तरार्ध से, अमेरिकी अंग्रेजी दुनिया भर में अंग्रेजी का सबसे प्रभावशाली रूप बन गई है। विश्व में इंग्लिश जानने वाले लोगों में अमेरिकन इंग्लिश जानने वालों की संख्या सर्वाधिक है। 

अमेरिकन इंग्लिश की विशेषताएं

अमेरिकन इंग्लिश में शब्दों का उच्चारण और बलाघात(accent) इसे विशेष और अन्य इंग्लिश से अलग बनाता है। इसमें “o” का उच्चारण “ओ” (rounded lip) न हो कर प्रायः “आ” किया जाता है। cot और caught के उच्चारण लगभग एकसमान होते हैं।

अमेरिकन इंग्लिश में अनेक शब्दों की स्पेलिंग आम इंग्लिश से अलग है। जैसे- अमेरिकन इंग्लिस में colour को color, defence को, defense, centre को center, catalogue को catalog, licence को license और fibre को fiber लिखा जाता है। इस तरह के शब्दों की सूची बहुत लंबी है जिन्हें अमेरिकन इंग्लिश में अलग तरह से स्पेल किया जाता है।

अमेरिकन इंग्लिश के शब्दकोष में कई ऐसे शब्द हैं जो इसे अन्य इंग्लिश से अलग करते हैं। यहाँ फ्लैट की जगह अपार्टमेंट्स, ट्राउज़र्स की जगह पैन्ट्स, कार के बोनेट के लिए हुड, लोरी को ट्रक, यूनिवर्सिटी को कॉलेज, बिस्किट को कूकीज, फूटबाल को सॉकर और शॉप को स्टोर बोलने का चलन है। अमेरिकन इंग्लिश का ग्रामर भी इसे विशेष बनाता है। अमेरिकन इंग्लिश में need not के स्थान पर do not need कहने का प्रचलन है। अमेरिकन shall की जगह will या should का प्रयोग बहुतायत से करते हैं। 

इस तरह हम देखते हैं अमेरिकन इंग्लिश अपनी विशिष्ट उच्चारण शैली, स्पेलिंग, शब्द आदि की विशेषताओं के कारण सामान्य इंग्लिश से कुछ अलग स्थान रखती है। हालाँकि इंग्लिश बोलने वाले लोगों के लिए अमेरिकन इंग्लिश को लिखना और समझना कोई अलग कार्य नहीं है।

British English

ग्रेट ब्रिटेन में बोली और प्रयोग की जाने वाली भाषा ब्रिटिश इंग्लिश कहलाती है। ब्रिटिश शासन के अंतर्गत आने वाले अधिकांश देशों में इंग्लिश का यही स्वरुप लोकप्रिय है। ब्रिटिश इंग्लिश को ब्रिट इंग्लिश, BrE और यूके इंग्लिश के नाम से भी जाना जाता है।

अंग्रेजी के अन्य रूपों, जैसे अमेरिकी अंग्रेजी, की तुलना में इसमें उच्चारण, शब्दावली और कभी-कभी व्याकरण के मामले में भी विशिष्ट विशेषताएं हैं। यूके के भीतर उच्चारण और शब्दावली में क्षेत्रीय भिन्नताएं भी हैं, जैसे स्कॉटिश अंग्रेजी, वेल्श अंग्रेजी और उत्तरी आयरिश अंग्रेजी।

अमेरिकी अंग्रेजी और ब्रिटिश अंग्रेजी के बीच अंतर

1.Pronunciation and Accent :- अमेरिकन इंग्लिश अपने विशिष्ट उच्चारण और एक्सेंट की वजह से ब्रिटिश इंग्लिश से काफी अलग नज़र आती है। जैसे-

● अमेरिकन “o” का उच्चारण “आ ” की तरह करते हैं। जबकि ब्रिटिश इसे “ओ” या “औ” की तरह करते हैं। उदहारण के लिए box को अमेरिकन इंग्लिश में बाक्स जबकि ब्रिटिश इंग्लिश में बॉक्स पढ़ा जाता है। अमेरिकन cot और caught के उच्चारण में कोई फर्क नहीं करते जबकि ब्रिटिश इंग्लिश में इन दोनों ही शब्दों के भिन्न उच्चारण हैं।

● T,P,C,K से शुरू होने वाले शब्दों का उच्चारण अमेरिकन इंग्लिश के प्रयोगकर्ता इन अक्षरों के बाद थोड़ा रुक कर या मुंह से थोड़ी हवा निकाल कर शब्द के बाकी हिस्से का उच्चारण करते हैं। उदहारण के लिए Tom बोलते समय अमेरिकन T-home, Table को T-hable, People को P-heople, Camera को C-hamera की तरह बोलते हैं। ब्रिटिश इंग्लिश में ऐसा देखने को नहीं मिलता।

● उच्चारण सम्बन्धी अंतर कुछ और जगहों पर दिखता है। जिन शब्दों के अंत में able आता है उनका उच्चारण करते समय अमेरिकन bol प्रयोग करते हैं जैसे Able को Abol Adorable को Adorabol आदि। ब्रिटिशर्स अपने उच्चारण को उस शब्द के अनुसार ही करते हैं।

● Inter का उच्चारण करते समय अमेरिकन इसे प्रायः बिना T के करते हैं। Internet को वे प्रायः Inner net International को Inner national पढ़ते हैं। ब्रिटिश इंग्लिश स्पीकर इन शब्दों को T के साथ पढ़ते हैं।

● अमेरिकन Rhotic Speech अर्थात किसी शब्द के अंत या मध्य में आने वाले “R” को स्पष्ट रूप से बोलते हैं वहीं ब्रिटिश इंग्लिश में इसे प्रायः नहीं पढ़ा जाता है। Winter को अमेरिकन विंटर जबकि ब्रिटिश Win-tuh पढ़ते हैं।

2.Spelling Differences:- अमेरिकन इंग्लिश में अनेक ऐसे शब्द हैं जिनकी स्पेलिंग ब्रिटिश इंग्लिश से भिन्न होती है। जैसे- अमेरिकन इंग्लिस में colour को color, defence को, defense, centre को center, catalogue को catalog, licence को license और fibre को fiber लिखा जाता है। इस तरह के शब्दों की सूची बहुत लंबी है जिन्हें अमेरिकन इंग्लिश में अलग तरह से स्पेल किया जाता है। कुछ महत्वपूर्ण शब्दों की लिस्ट नीचे दी गई है।

अमेरिकन इंग्लिशब्रिटिश इंग्लिश 
anemiaanaemia
diarrheadiarrhoea
अमेरिकन इंग्लिश में “or” का ज्यादा प्रयोग किया जाता है। जैसे- color, favorite, behavior, humor, Flavor, labor, neighbor ब्रिटिश इंग्लिश में “our” का अधिक प्रयोग किया जाता है। जैसे- colour, favourite, behaviour ,humour,Flavour, labour, neighbour 
अमेरिकन इंग्लिश में “ze” का ज्यादा प्रयोग किया जाता है। जैसे- analyze, criticize, 
ब्रिटिश इंग्लिश में “se” का अधिक प्रयोग किया जाता है। जैसे- analyse, criticise.
अमेरिकन इंग्लिश में “ense” का ज्यादा प्रयोग किया जाता। जैसे- defense, offense, licenseब्रिटिश इंग्लिश में “ence” का अधिक प्रयोग किया जाता है। जैसे- Defence, offence,licence
अमेरिकन इंग्लिश में सिंगल L का प्रयोग किया जाता है। जैसे-  canceled, traveling, counselor, enrolment, woolenवहीं ब्रिटिश इंग्लिश में डबल LL का प्रयोग किया जाता है। जैसे- cancelled, travelling, counsellor enrollment, woollen,
अमेरिकन इंग्लिश में “er” का अधिक  प्रयोग किया जाता है। जैसे- Meter, Fiber, center, theater, liter ब्रिटिश इंग्लिश में “re” का अधिक प्रयोग किया जाता है। जैसे- Metre, Fibre, centre, theatre, litre
अमेरिकन इंग्लिश में “ize” का अधिक  प्रयोग किया जाता है। जैसे- organize, apologize, realizeRecognize, ब्रिटिश इंग्लिश में “ise” का अधिक प्रयोग किया जाता है। जैसे- organise, apologise, realise, Recognise,
कुछ संज्ञाएँ अमेरिकन इंग्लिश में og या ogue से समाप्त होती हैं। जैसे- analog or analoguecatalog or catalogueDialog or dialogue 

कुछ संज्ञाएँ ब्रिटिश इंग्लिश में og से समाप्त होती हैं। जैसे- analog, catalog, Dialog

3.Vocabulary differences: हर भाषा के अपने शब्द होते हैं। जैसे-हिंदी में लड़का के लिए छोरा, बालक, आदि शब्दों का प्रयोग किया जाता है। इसी तरह बहुत सारे शब्द ऐसे हैं जिनका अर्थ तो एक ही है लेकिन अमेरिकन इंग्लिश और ब्रिटिश इंग्लिश में उनके लिए अलग अलग शब्द का प्रयोग किया जाता है। जैसे- 

अमेरिकन इंग्लिश      –       ब्रिटिश इंग्लिश 
Cookie                 –       Biscuit
Pants                  –        Trousers
apartment           –        Flat
Hood                   –        Bonnet
Truck               –        Lorry
Vacation              –       Holiday
Elevator              –       Lift
Garbage             –       Rubbish
French fries        –       Chips
Line                    –       Queue 
Mailbox              –        postbox
Soccer               –        Football
Corn                   –       Maize
Faculty               –       Staff
Eraser                –       Rubber
Overpass           –       Flyover
Faucet               –       Tap 
Schedule           –       Timetable
Flashlight         –       Torch

4. Grammar differences: ग्रामर भी अमेरिकन इंग्लिश को ब्रिटिश इंग्लिश से अलग करती है।जैसे-

● अमेरिकन इंग्लिश में will का प्रयोग ज्यादा होता है जबकि ब्रिटिश इंग्लिश में will और shall दोनों का प्रयोग होता है बल्कि shall का प्रयोग ब्रिटेन में अपेक्षकृत अधिक होता है।

● अमेरिकन इंग्लिश में collective noun को singular माना जाता है जबकि ब्रिटिश इंग्लिश में collective noun को भाव के अनुसार singular या plural माना जाता है।

● अमेरिकन get के past participle form के तौर पर gotten का प्रयोग करते हैं जबकि ब्रिटिश यहाँ पर got का ही प्रयोग करते हैं।

● अमेरिकन इंग्लिश में don’t need का प्रयोग होता है जबकि ब्रिटिश इंग्लिश में need not का प्रयोग ज्यादा होता है।

● अमेरिकन इंग्लिश में समय के साथ “on” और स्थान के साथ “in” का प्रयोग होता है जबकि ब्रिटिश इंग्लिश में समय और स्थान के साथ “at” का प्रयोग होता है।

● अमेरिकन इंग्लिश में “have” का प्रयोग होता है। जैसे- I have a car. जबकि ब्रिटिश इंग्लिश में “have got” का प्रयोग ज्यादा होता है। जैसे- I have got a car.

● अमेरिकन इंग्लिश और ब्रिटिश इंग्लिश में preposition में भी कुछ अंतर है। जैसे- 

जैसे अमेरिकन इंग्लिश में “on the weekend”  और 

“on a team” होता है जबकि ब्रिटिश इंग्लिश में  “at the weekend”  और “in a team”होता है।

● idiom – कई अंग्रेजी मुहावरे हैं जिनका अनिवार्य रूप से एक ही अर्थ है लेकिन अमेरिकी और ब्रिटिश संस्करण के बीच शाब्दिक अंतर दिखाते हैं, उदाहरण के लिए:

० Knock on wood vs. Touch wood
० A drop in the bucket vs. A drop in the ocean
० Beating a dead horse vs. Flogging a dead horse
० Lay of the land vs. Lie of the land

● dates and number – अमेरिकी अंग्रेजी में, तारीख को “अप्रैल 18,1993” के रूप में व्यक्त किया जाता है। इसके विपरीत, ब्रिटिश अंग्रेजी में, तारीख को “18 अप्रैल 1993” के रूप में व्यक्त किया जाता है।

5. Punctuation difference:-अमेरिकन इंग्लिश और ब्रिटिश इंग्लिश में Abbreviations के प्रयोग में भी अंतर है  जैसे- अमेरिकन इंग्लिश में Ph.D और Mr. जबकि ब्रिटिश इंग्लिश में PhD और Mr लिखा जाता है। 

सारांश :-

वास्तवमें  अमेरिकन इंग्लिश और ब्रिटिश इंग्लिश में अनेक अंतर होने के बावजूद दोनों में काफी समानताएँ हैं और लोगों को एक दूसरे को समझने में कोई ज्यादा परेशानी नहीं होती है। किंतु इन दोनों में कौन बेहतर है ये कहना मुश्किल है। दोनों ही विश्व के अनेक देशों में बोली जाती हैं। भारत में अधिकतर अमेरिकन इंग्लिश बोली जाती है। 

उम्मीद है कि अब आपको अमेरिकन इंग्लिश और ब्रिटिश इंग्लिश के बीच अंतर स्पष्ट हो गया होगा। आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी? हमें कॉमेंट करके अवश्य बताएँ और अपने दोस्तों को भी शेयर करें। यदि आपके मन में कोई प्रश्न अथवा शंका है तो आप हमसे पूछ सकते हैं। हम आपके प्रश्नों अथवा शंका का समाधान करने का पूरा प्रयास करेंगे। “धन्यवाद”

इस  प्रकार के और अंतर जानने के लिए “www.antarkosh.com पर visit करें।

10 thoughts on “Difference between American English and  British English 

  1. You have given good differentiation between American and British English… I hope you will provide such type of knowledge also in future. …. Thanks.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *